रायसेन

मुक्तिधाम की भूमि के सीमांकन से भू माफियाओं में मची खलबली

रायसेन

बेगमगंज
नगर के गंभीरीया हलके में पलक मति नाले वाला मुक्तिधाम वर्षों से सुर्खियों में हैं मुक्तिधाम की भूमि पर भूमाफिया द्वारा प्लॉटिंग कर विक्रय कर दिए जाने से कई बार इसके सीमांकन की मांगे उठ चुकी हैं ।पूर्व में सीमांकन किया गया लेकिन अतिक्रमण की गई भूमि को मुक्त नहीं कराया गया। सीमांकन की मांग को लेकर पूर्व हिंदू उत्सव समिति अध्यक्ष अवधेश कुमार द्वारा अनुभाग अधिकारी अभिषेक चौरसिया को आवेदन लगाए जाने पर सीमांकन की कार्यवाही शुक्रवार सुबह 11:00 बजे से शुरू की गई जो शाम 5:00 बजे तक निरंतर चलती रही जिसके नतीजे में करीब आधा एकड़ जमीन कॉलोनाइजर के कब्जे में व चार मकानो का कुछ भाग को राजस्व अमले ने चिन्हित किया है जो अतिक्रमण में आना बताया जा रहा है लेकिन अभी राजस्व अमले द्वारा  प्रतिवेदन प्रस्तुत नहीं किए जाने से अधिकारी कुछ कहने की स्थिति में नहीं है।
    . पलकमति वाले मुक्तिधाम को लेकर राजस्व विभाग द्वारा आवेदक अवधेश पटेल हिंदू उत्सव समिति पूर्व अध्यक्ष सहित मुक्तिधाम की सरहद पर रहने वाले मकान मालिक मनीष कुमार मनोज कुमार कमलाबाई जैन को भी सीमांकन के समय उपस्थित रहने के लिए नोटिस जारी किया । राजस्व अधिकारी के आदेश के परिपालन में राजस्व विभाग के आर आई राजेंद्र नगरिया, प्रशांत कोरी, कस्बा पटवारी अंकुर दुबे, पटवारी मनीष चौरसिया, मनोज आठया, और राजेश रजक की टीम सीमा चिन्हों को मिलाते हुए जरीब डालकर एवं सीमांकन मशीन सेटेलाइट के जरिए भी सीमांकन किया गया सीमांकन के समय हिंदू उत्सव समिति के पूर्व अध्यक्ष संदीप विश्वकर्मा, नवल किशोर यादव, राजेश यादव , बसंत शर्मा, गुलाब रजक, डा. राजू साहू, मनोज सोनी आदि भी उपस्थित रहे अन्य लोग भी सीमांकन देखने के लिए पहुंचे जिससे भू माफियाओं में खलबली मच गई।
    कॉलोनाइजर व मकान मालिकों को कार्रवाई का भय:-
 मुक्तिधाम की बाउंड्री से लगे कॉलोनाइजर एवं मकान मालिकों को  

महानगरों में जिस तरीके से अतिक्रमणकारियों खिलाफ कार्रवाई हो रही है  उनके बने बनाए मकान तोड़े जा रहे हैं उसका भय सताने लगा है और वे अपने बचाव के लिए प्रयास करने लगे हैं मकान मालिक यह कहते सुने गए कि उन्होंने तो बना बनाया मकान कॉलोनाइजर से खरीदा है यदि उनके मकान अतिक्रमण में आते हैं तो कॉलोनाइजर के खिलाफ न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे।
     इस संबंध में आर आई राजेंद्र नगरिया का कहना है कि मुक्तिधाम की बाउंड्री के बाहर भी मुक्तिधाम की भूमि निकल रही है इसके बारे में प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जाएगा।
    इस संबंध में एसडीएम अभिषेक चौरसिया का कहना है कि राजस्व अमले का प्रतिवेदन प्राप्त होने के बाद ही स्पष्ट किया जा सकेगा कि कितनी भूमि किस किस के कब्जे में मुक्तिधाम की निकल रही है और उनके खिलाफ क्या कार्रवाई की जाएगी।

 

 

बेगमगंज से शब्बीर अहमद की रिपोर्ट

Follow Us On You Tube