none

Kesari Box Office Collection Day 7: इस साल की सबसे तेजी से 100 करोड़ की कमाई करने वाली फिल्म बनी 'केसरी'

none

अक्षय कुमार की 'केसरी' साल 2019 की सबसे तेजी से 100 करोड़ कमाने वाली फिल्म बन गई है। फिल्म ने रिलीज के सातवें दिन 100 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है। रिलीज के सातवें दिन यानी बुधवार को फिल्म ने 6.52 करोड़ कमाए। इसके साथ 'केसरी' का अब तक का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 100.01 करोड़ रुपए हो गया है। इससे पहले 'गली बॉय' आठवें दिन और टोटल धमाल ने नौवें दिन 100 करोड़ क्लब में शामिल हुए थे।

केसरी ने रिलीज के पहले दिन गुरुवार को 21.06 करोड़ रुपए कमाए और इसके साथ यह साल की अब तक की सबसे बड़ी ओपनर बनी। दूसरे दिन शुक्रवार को 16.75 करोड़, शनिवार को 18.75 करोड़, रविवार को 21.51 करोड़, सोमवार को 8.25 करोड़, मंगलवार को 7.17 करोड़ रुपए और बुधवार को 6.52 करोड़ की कमाई की। इस तरह फिल्म ने अब तक 100.01 करोड़ अपने खाते में कर लिए हैं।

 

केसरी दुनिया भर में 4,200 स्क्रीनों पर दिखाई जा रही है। भारत में 3,600 स्क्रीन्स पर चल रही है। अक्षय की फिल्म 'केसरी' बैटल ऑफ सारागढ़ी पर आधारित है। केसरी उन 21 सिख जवानों पर आधारित है, जिन्होंने 12 सिंतबर 1891 में अपनी वीरता और जाबांजी से 10,000 अफगानियों से लड़ाई कर सारागढ़ी को बचाया था। फिल्म में अक्षय रियल लाइफ हीरो हवलदार ईशर सिंह के किरदार में नजर आ रहे हैं। इस पीरियड ड्रामा में अक्षय के साथ दिख रही हैं परिणीति चोपड़ा, जो कि उनकी पत्नी का किरदार निभा रही हैं।

क्या है सारागढ़ी का युद्ध

बैटल ऑफ सारागढ़ी यानि सारागढ़ी का युध्द 12 सितम्बर 1897 को अंग्रेजों और अफगान ओराक्ज़ई जनजातियों के बीच लड़ा गया था। यह अब के पाकिस्तान में स्थित उत्तर-पश्चिम फ्रण्टियर प्रान्त (खैबर-पखतुन्खवा) में हुआ। तब सिख ब्रिटिश फ़ौज में सिख रेजिमेंट की चौथी बटालियन थी जिसमें 21 सिख थे, जिन पर 10000 अफगानों ने हमला किया था । सिखों का नेतृत्व कर रहे हवालदार ईशर सिंह ने मरते दम तक लड़ने का फैसला किया । इसे सैन्य इतिहास में इतिहास के सबसे महान अन्त वाले युद्धों में से एक माना जाता है। जंग के दो दिन बाद दूसरी ब्रिटिश भारतीय सेना ने उस जगह पर फिर कब्ज़ा कर लिया था। सिख सैनिक इस युद्ध की याद में 12 सितम्बर को सारागढ़ी दिवस मनाते हैं l केसरी, सारागढ़ी के युद्ध की कहानी है। फिल्म में अक्षय कुमार हवलदार सिंह का किरदार निभा रहे हैं, जिन्होंने उस समय की इंडो-ब्रिटिश आर्मी का नेतृत्व किया था।

 

Follow Us On You Tube