रायसेन

वृद्धावस्था पेंशन दोगुनी करने पर मुख्यमंत्री की सराहना की 114 वर्षीय नत्थे खॉं ने

रायसेन

रायसेन, 19 अक्टूबर 2019

रायसेन जिले ग्राम बागौद निवासी हाजी नत्थे खां अपने जीवन के 114 बसंत पार कर चुके हैं। वे अपने नाती नवेद के साथ विगत दिनों अन्तर्राट्रीय वृद्धजन दिवस पर रायसेन में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने उन्हें शाल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। हाजी नत्थे खां बागौद ग्राम पंचायत के दो बार सरपंच रह चुके हैं। हाजी नत्थे खॉं यद्यपि पेंशन नहीं ले रहे है, लेकिन मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा बुजुर्गों की पेंशन राशि दोगुनी करने की सराहना करते हैं। वे इसे बुजुर्गों के हित में अच्छा निर्णय बताते हैं।

हाजी नत्थे खां पूरी तरह स्वस्थ है और आज भी वे हर सुबह पैदल ही खेत जाते है। वे संतुलित आहार नियमित दिनचार्या का अपने शतायु होने का राज बताते हैं। वे बताते हैं कि दाल-चावल, षब्जी-रोटी, बहुत सादा भोजन अल्प मात्रा में करते हैं। सुबह चाय-बिस्किट लेकर पैदल खेत चले जाते हैं। खेत से लौट कर हल्का भोजन करते हैं। उन्हों ने बताया कि तला-गला खाना नहीं खाते। दोपहर में थेड़ी देर आराम करते हैं। वे बताते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए नियमित व्यायाम या पैदल चलना जरूरी है। इसके साथ ही वे कहते हैं कि परिजनों का व्यवहार और वातारण भी बुजुर्गों के स्वास्थ्य का प्रभावित करता है। श्री नत्थे खां की याददास्त भी अच्छी है। पुरानी यादों को ताजा करते हुए वे बताते हैं कि 1952 से 1956 तक में सांची मे बने बौद्ध मंदिर के निर्माण कार्य में उन्होंने काम किया है। इस मंदिर में महात्मा बुद्ध के शिष्य सारिपुत्र और मौदग्ल्यान की पवित्र अस्थियां रखी हैं।

 

नोशे खां की रिपोर्ट 

Follow Us On You Tube