none

पाकिस्तान का दावा : भारत की बताई गई 22 जगहों पर नहीं चल रहा है कोई भी आतंकी शिविर

none

इस्लामाबाद। पाकिस्तान यह मानने को तैयार नहीं है कि उसकी धरती से आतंकी कैंप चल रहे हैं। पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा है कि भारत की बताई गई 22 जगहों में से एक भी जगह पर आतंकी शिविर नहीं चल रहा है। यदि भारत अनुरोध करे, तो पाकिस्तान उन जगहों पर उसे जाकर मुआयना करने देने के लिए भी तैयार है।

पाकिस्तान के विदेश विभाग ने एक बयान जारी कर यह दावा भी किया है कि पुलवामा हमले को लेकर 54 लोगों से पूछताछ की जा रही है, लेकिन अब तक उनका आतंकियों से कोई संबंध नहीं मिला है। बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे।

इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान की जमीन पर पल रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। उसके आतंकी ने करीब दो सो किलो विस्फोटक से भरी गाड़ी को सीआरपीएफ के काफिले में शामिल एक बस से भिड़ाकर आत्मघाती हमला किया था। इसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया था।

बताते चलें कि भारत ने इस हमले के जवाब में 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर जैश आतंकियों के सबसे बड़े कैंप को तबाह कर दिया था। पाकिस्तान ने अगले दिन जवाब कार्रवाई की थी लेकिन इसमें भी उसे भारतीय वायुसेना से मुंह की खानी पड़ी थी। पाकिस्तान के कब्जे में आए भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को भी उसे चौतरफा दवाब के चलते छोड़ना पड़ा था।

भारत ने 27 फरवरी को नई दिल्ली में पाकिस्तान के कार्यकारी हाई कमिश्नर को पाकिस्तान में चल रहे जैश के शिविरों के बारे में स्पेसिफिक जानकारी दी थी। पाकिस्तान के विदेश विभाग ने कहा कि डोजियर मिलने के तुरंत बाद पाकिस्तान ने एक जांच टीम गठित की थी और कई लोगों को हिरासत में लिया था।

पाकिस्तान ने कहा कि भारत ने 6 हिस्सों में 91 पेजों का डोजियर दिया था, जिसमें से सिर्फ दूसरे और तीसरे हिस्से में ही पुलवामा हमले से संबंधित थे। अन्य हिस्सों में सामान्य आरोप लगाए गए थे। पाकिस्तान दस्तावेजों के सिर्फ उन हिस्सों पर ही ध्यान दे रहा है, जिसमें पुलवामा हमले से संबंधित जानकारी दी हुई है।

Follow Us On You Tube