रायसेन

ग्रामवासियों से विचार-विमर्श के बाद बनें पेयजल योजनाएं- कलेक्टर वर्ष 2024 तक ग्रामों में प्रत्येक परिवार को उपलब्ध कराया जाएगा घरेलू नल कनेक्शन जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक आयोजित

रायसेन

रायसेन, 29 जून 2020
जिले में जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन के संबंध में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री भार्गव ने जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के तहत नल-जल योजनाएं ग्राम पंचायतों में ग्रामवासियों की सहमति से बनाने के निर्देश ई पीएचई तथा जनपद सीईओ को दिए। 
कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि कार्ययोजना बनाने के लिए व्यवहारिक दृष्टिकोण अपनाते हुए इस प्रकार बनाई जाए, जिससे कि जल जीवन मिशन का उद्देश्य सार्थक हो सके। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि ग्रामवासियों को स्थानीय जल स्त्रोतों के बारे में बेहतर जानकारी होती है, इसलिए उनसे भी सुझाव लिए जाएं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि लोगों को इस परियोजना के बारे में अवगत कराते हुए घरेलू नल कनेक्शन लेने के लिए प्रेरित किया जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन के लिए प्रत्येक गांव का जायजा लेने के बाद ग्राम कार्य योजना तैयार करने के निर्देश ईपीएचई तथा जनपद सीईओ को दिए।
बैठक में ई पीएचई श्री आरके सिंह ने जानकारी दी कि जल जीवन मिशन के तहत वर्ष 2024 तक जिले के सभी ग्रामों में प्रत्येक परिवार को घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से जल प्रदाय सुनिश्चित किया जाना है। ग्राम की जल प्रदाय संरचना का विकास एवं प्रबंधन वहां की ग्राम पंचायत पेय उपसमिति एवं वहां के उपभोक्ता समूह द्वारा किया जाएगा। इसमें लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग एवं आईएसए द्वारा सहयोग किया जाएगा। बैठक में सहायक मुख्य अभियन्ता श्री सुबोध जैन, जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। 

जल जीवन मिशन में जनसहयोग

जल जीवन मिशन के अनुसार प्रत्येक घर में एक नल उपलब्ध कराया जाएगा। यह कार्य समुदाय जनसहयोग से किया जाएगा। सामान्य श्रेणी बाहुल्य ग्रामों में योजना की लागत का 10 प्रतिशत, अनुसूचित जाति तथा जनजाति बाहुल्य ग्रामों में योजना की लागत का 05 प्रतिशत जनसहयोग लिया जाएगा। अनुसूचित जाति/जनजाति की जनसंख्या ग्राम में 50 प्रतिशत से अधिक होना चाहिए। इसी प्रकार पहाड़ी एवं वन क्षेत्र में योजना की लागत का पंाच प्रतिशत जनसहयोग लिया जाएगा। जनसहयोग नगदी, सामग्री या श्रम के रूप में लिया जा सकता है। 

वर्तमान में घरेलू नल कनेक्शन की स्थिति

वर्तमान में जिले के ग्रामीण क्षेत्र में 35806 परिवारों को 39391 घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से जल प्रदाय किया जा रहा है। इनमें सांची विकासखण्ड के कुल नलजल योजना वाले 82 ग्रामों में 6885 घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से, गैरतगंज विकासखण्ड में 58 ग्रामों में 2583 घरेलू नल कनेक्शन, बेगमगंज विकासखण्ड में 58 ग्रामों में 3471 घरेलू नल कनेक्शन, सिलवानी विकासखण्ड में 49 ग्रामों में 3548 घरेलू नल कनेक्शन, बाड़ी विकासखण्ड में 34 ग्रामों में 2969 घरेलू नल कनेक्शन, उदयपुरा विकासखण्ड में 14 ग्रामों में 12731 घरेलू नल कनेक्शन तथा औबेदुल्लागंज विकासखण्ड में कुल नलजल योजना वाले 70 ग्रामों में 7204 घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से जल प्रदाय किया जा रहा है।

 

द्वारा-
पीआरओ

 

नोशे खां की रिपोर्ट

Follow Us On You Tube