none

ब्रिटेन में 54.74 लाख में नीलाम हुई टीपू सुल्तान की चांदी जड़ित बंदूक

none

लंदन। भारत के मशहूर शासक टीपू सुल्तान की चांदी जड़ित बंदूक सहित अन्य वस्तुओं की मंगलवार को ब्रिटेन में 97.62 लाख रुपए में नीलामी हुई। ये वस्तुएं ब्रिटेन के बर्कशायर की इंग्लिश काउंटी में एक दंपती को घर में मिली थीं। माना जा रहा है कि 220 साल बाद ये प्रकाश में आए थे।

इनमें सबसे ज्यादा 14 बोलियां 20 बोर की फ्लिंटलॉक बंदूक के लिए आईं, जिनमें 54.74 लाख की बोली सबसे ज्यादा रही। स्वर्णजड़ित तलवार के लिए सबसे ज्यादा 16.87 लाख रुपए की बोली लगी। वर्ष 1799 में श्रीरंगपट्टनम की लड़ाई में टीपू सुल्तान की हार के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी के मेजर थामस हार्ट इन आठ वस्तुओं को अपने साथ ब्रिटेन ले आए थे।

नीलामी की जानकारी होने पर लंदन के उच्चायोग ने नीलामीकर्ता से इसे भारत वापस भेजने के लिए दान देने की अपील भी की थी। हालांकि, नीलामीकर्ता ने इन सामग्री की नीलामी से प्राप्त राशि का कुछ हिस्सा भारत के स्कूलों को देने की बात कही है।

लंदन में भारतीय उच्चायोग को "भारत की चोरी विरासत" को ट्रैक करने के लिए स्थापित एक विश्वव्यापी स्वयंसेवक नेटवर्क 'इंडिया प्राइड प्रोजेक्ट' ने कलाकृतियों की नीलामी के बारे में बताया था। संस्था ने स्वेच्छा से भारत को वस्तुओं को लौटाने पर विचार करने के लिए नीलामी घर को मनाने का प्रयास किया था।

इंडिया प्राइड प्रोजेक्ट ने पिछले साल लंदन में भारतीय उच्चायोग के माध्यम से बिहार के नालंदा से चुराई गई 12वीं शताब्दी की बुद्ध प्रतिमा को लौटाने में मदद की थी। संस्था का कहना है कि वह इस तरह की कलाकृतियों की भारत में वापसी कराने के लिए लॉबिंग करना जारी रखेगा।

इंडिया प्राइड प्रोजेक्ट के संस्थापक अनुराग सक्सेना ने कहा कि आपने वास्तव में एक राष्ट्र से औपनिवेशिकवाद को खत्म नहीं किया, जब तक कि आप उस देश की चीजें, उसे लौटा नहीं देते।

Follow Us On You Tube