रायपुर

Chhattisgarh : CM भूपेश ने कविता से बताई, 100 दिनों की "कमाई"

रायपुर

रायपुर

प्रदेश में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार मंगलवार को 100 दिन पूरे कर लिये। हालांकि पांच साल के लिए निवार्चित किसी सरकार के कामकाज के आंकलन के लिहाज से 100 दिन का समय बहुत कम होता है। मगर देश में आम चुनाव हो रहे हैं तो विपक्ष कम से कम इसी मुद्दे पर प्रदेश सरकार को घेरने का प्रयास करेगा। इसके पहले कि विपक्ष मुख्यमंत्री से 100 दिनों में उनकी उपलब्धि सवाल खडे करता भूपेश बघेल खुद ही फ्रंटफुट पर खेलने आ गए। उन्होंने 100 दिनों में अपनी सरकार के कामकाज और उपलब्धियों को गिनाने के लिए कविता और सोशल मीडिया का सहारा लिया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को अपने टवीटर हैंडल पर अपनी कविता पोस्ट कर 100 दिनों में किए कार्यों का उल्लेख किया है। टवीटर पर पोस्ट अपनी कविता में मुख्यमंत्री ने किसानों की कर्जमाफी के अलावा वनाधिकार कानून का उल्लेख करते हुए भाजपा के चप्पल बांटने की योजना पर कटाक्ष भी किया है।

उन्होंने बिजली बिल आधा करने और बिजली कटौती न करने का भी जिक्र किया है। उन्होंने कविता में भ्रष्ट लोगों में सरकार की कार्यप्रणाली से भयभीत होने का जिक्र करते हुए ईमानदारों को नहीं डरने का भी संदेश देते हुए लिखा है कि यही उनकी 100 दिनों की उपलब्धि है, जबकि अभी ढेरों काम करना है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा कि लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। साथ ही प्रत्याशियों द्वारा नामांकन पत्र भी दाखिल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के तत्काल बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नई राजधानी में देश का चौकाने वाली नई योजना के बारे में सबसे पहले छत्तीसगढ में चर्चा की थी। जिस प्रकार से राहुल गांधी ने बात की है कि देश के 20 फीसद आबादी में पांच करोड गरीब परिवार के लोगों को इसका लाभ मिलने वाला है।

Follow Us On You Tube