रायसेन

कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए अधिक से अधिक लोगों को रोजगार देने हेतु ऋण प्रकरण स्वीकृत किए जाए- कलेक्टर जिला स्तरीय बैंकर्स समन्वय समिति की बैठक आयोजित

रायसेन

रायसेन, 25 जून 2020

जिला स्तरीय बैंकर्स समन्वय समिति की बैठक कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। कलेक्टर श्री भार्गव ने रोजगारमूलक योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण लोगों को वर्तमान में रोजगार की आवश्यकता है। इसलिए पात्रतानुसार अधिक से अधिक ऋण प्रकरणों को स्वीकृत किया जाए ताकि लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सके। कलेक्टर श्री भार्गव द्वारा जिले की वर्ष 2020-21 की वार्षिक साख योजना पुस्तिका का भी विमोचन किया गया।   

कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि विगत वर्ष के लंबित प्रकरणों को इस वर्ष पूर्ण करना है। उन्होंने विभिन्न शासकीय योजनाओं के स्वीकृत प्रकरणों में 15 अगस्त तक राशि वितरण करने के लिए कहा। साथ ही वर्तमान में जिन योजनाओं में लक्ष्य प्राप्त हो चुके हैं उन्हें 15 अगस्त तक स्वीकृत करते हुए राशि वितरित की जाए। बैठक में कलेक्टर श्री भार्गव ने दुग्ध उत्पादकों तथा किसानों को क्रेडिट कार्ड प्रदान करने के लिए 31 जुलाई तक चलाए जा रहे अभियान की जानकारी लेते हुए शासन के निर्देशानुसार सभी पात्र दुग्ध उत्पादकों तथा किसानों को केसीसी प्रदाय किया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

कलेक्टर श्री भार्गव ने फसल बीमा योजना के तहत किसानों के बैंक खाते से काटी जाने वाली प्रीमियम की राशि की जानकारी अपलोड करते हुए बीमा कम्पनियों को अवगत कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रवासी श्रमिकों को रोजगार से जोड़ने के लिए उद्यानिकी खेती के लिए ऋण प्रदाय करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि फसल बीमा का लाभ पात्रतानुसार सभी किसानों को मिले यह सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए शासकीय योजनाओं के तहत ऋण प्रदाय किए जाने के लिए भी कहा। 

बैठक में कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले के बैंक के बैंकिंग पैरामीटर्स, बैंकों द्वारा जिला वार्षिक साख योजना 2019-20 लक्ष्य प्राप्ति, प्रधानमंत्री जनधन योजना प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री अटल पेंशन योजना सहित शासकीय योजना की बैंकवार प्रगति की समीक्षा की। साथ ही स्व-सहायता समूह बैंक लिंकेज की प्रगति, किसान क्रेडिट कार्ड, फसल बीमा एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए। उन्होंने बैंकों को प्रदाय लक्ष्य 31 जुलाई तक पूर्ण करने के लिए कहा। ग्रामीण बैंक रीजनल श्रीमती कल्पना सक्सेना तथा नाबार्ड के श्री नरेश तिजारे ने कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए अधिक से अधिक रोजगारमूलक ऋण प्रकरणों को स्वीकृत कर राशि वितरण के निर्देश दिए।

बैठक में जानकारी दी गई मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत 06 प्रकरणों में एक करोड़ 85 लाख रूपए, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 163 प्रकरणों में सात करोड़ 95 लाख रूपए, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के तहत 39 प्रकरणों में 19 लाख रूपए की ऋण राशि वितरित की गई है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत 16 प्रकरणों में 69 लाख रूपए तथा एनआरएलएम के अंतर्गत 203 प्रकरणों में दो करोड़ 75 लाख रूपए की ऋण राशि वितरित की गई है। 

बैठक में जानकारी दी गई कि जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र रायसेन तथा मण्डीदीप द्वारा संचालित मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत वर्ष 2019-20 में 291 प्रकरणों में 1416.8 लाख रूपए की ऋण राशि एवं मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत 14 प्रकरणों में 458 लाख रूपए की ऋण राशि वितरित की गई है। इसी प्रकार जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति मर्यादित के तहत वर्ष 2019-20 में मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में दो प्रकरणों में 65.93 लाख रूपए, मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना में सात प्रकरणों में 21 लाख रूपए, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में 60 प्रकरणों में 225 लाख रूपए तथा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना में 15 प्रकरणों में 7.50 लाख रूपए की ऋण राशि वितरित की गई है। एलडीएम श्री वीवी अय्यर द्वारा बैंकिंग गतिविधियों, विभिन्न शासकीय योजनाओं में ऋण स्वीकृति एवं वितरण, दुग्ध उत्पादकों तथा किसानों को केसीसी प्रदाय किए जाने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री पीसी शर्मा सहित विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

 

 

 

 द्वारा - पी आर ओ 

 

नोशे खां 

Follow Us On You Tube