रायसेन

रायसेन वन परिसर में जिला स्तरीय लाड़ली लक्ष्मी योजना 2.0 का शुभारंभ कार्यक्रम हुआ सम्पन्न

रायसेन

लाड़लियों को शिक्षा और रोजगार से जोड़ने, उन्हें सशक्त, समर्थ, सक्षम बनाने काम कर रही है सरकार


बेटी पढ़ेगी तो परिवार पढ़ेगा, आगे बढ़ेगा- प्रभारी मंत्री डॉ भदौरिया


बेटी अपने साथ खुशहाली लेकर आती हैं- स्वास्थ्य मंत्री

 

 

रायसेन, 08 मई 2022
सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ अरविन्द सिंह भदौरिया और स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी द्वारा रायसेन वन परिसर में आयोजित जिला स्तरीय लाड़ली लक्ष्मी योजना 2.0 के शुभारंभ कार्यक्रम का कन्या पूजन एवं दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया गया। उन्होंन कार्यक्रम में उपस्थित लाड़लियों पर पुष्प वर्षा कर उनका अभिनंदन भी किया। कार्यक्रम में भोपाल में आयोजित प्रदेश स्तरीय लाड़ली लक्ष्मी योजना 2.0 के शुभारंभ कार्यक्रम का भी लाईव प्रसारण देखा गया।
 
इस अवसर पर प्रभारी मंत्री डॉ भदौरिया ने कहा कि मध्यप्रदेश में बेटी के जन्म को अब बोझ के रूप में नहीं लिया जाता बल्कि बेटी के जन्म की खुशियाँ मनाई जाती है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की बेटियों के प्रति शुरू से संवेदनशील सोच रही है। इसी सोच के साथ उन्होंने प्रदेश में जन्म लेने वाली बालिकाओं के प्रति जनता में सकारात्मक सोच, लिंग अनुपात में सुधार, बालिकाओं की शैक्षणिक एवं स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार कर उनके अच्छे भविष्य की आधारशिला को रखने के लिये ही एक अप्रैल 2007 को लाड़ली लक्ष्मी योजना लागू को लागू किया।
प्रभारी मंत्री डॉ भदौरिया ने उपस्थित लोगों से बेटियों को खूब पढ़ाने की अपील करते हुए कहा कि बेटी पढ़ेगी तो परिवार भी पढ़ेगा और आगे बढ़ेगा। बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में बेटों से पीछे नहीं हैं। कई क्षेत्रों में तो बेटियां, बेटों से बेहतर काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में प्रदेश में बालिका के जन्म से लेकर विवाह तक के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। आज प्रदेश में 42 लाख से अधिक बालिकाएँ लाड़ली लक्ष्मी योजना में शामिल हैं। अनेक राज्यों ने मध्यप्रदेश की इस योजना की ना सिर्फ सराहना की है, बल्कि अपने राज्य में लागू भी किया है।
कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी योजना की शुभारंभ रायसेन जिले में से ही हुआ था और प्रदेश की पहली लाड़ली भी रायसेन जिले से ही है। यह हमारे गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि अब बेटियाँ बोझ नहीं वरदान हैं। बेटियों के प्रति समाज की विचारधारा में परिवर्तन लाने के लिए प्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 के शुभारंभ पर लाड़ली लक्ष्मी उत्सव मनाया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मियों को शिक्षा और रोजगार से जोड़ने, उन्हें सशक्त, समर्थ, सक्षम और आत्म-निर्भर बनाने के लिए लगातार काम किए जा रहे हैं। बेटियों को उच्च शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, रोजगार और स्व-रोजगार से जोड़ने की पहल भी प्रदेश सरकार कर रही है।
स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि प्रदेश में 42 लाख से अधिक लाड़ली लक्ष्मी हैं। लाड़लियों का भविष्य उज्ज्वल बनाने के लिए योजना की लाभार्थी बालिका को कक्षा 6 में प्रवेश पर 2 हजार रूपए, कक्षा 9वीं में प्रवेश पर 4 हजार रूपए, कक्षा 11वीं में प्रवेश पर 6 हजार रूपए और कक्षा 12वीं में प्रवेश पर 6 हजार रूपए की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया कि बालिका के 12वीं की परीक्षा में शामिल होने और 18 वर्ष की आयु तक विवाह न करने तथा 21 वर्ष पूर्ण होने पर एक लाख रूपए प्रदान किए जाते हैं। इसके अतिरिक्त योजना में पंजीकृत बालिकाओं को 12वीं कक्षा तक पढ़ाई पूरी करने पर आगे की शिक्षा अथवा व्यवसायिक प्रशिक्षण के लिए प्रोत्साहन स्वरूप 25 हजार रूपए की राशि उपलब्ध कराने का भी सरकार ने निर्णय लिया है।
कार्यक्रम में कलेक्टर श्री अरविन्द कुमार दुबे ने जिले में लाड़ली लक्ष्मी योजना के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि जिले में लाडली लक्ष्मी योजना अंतर्गत निरंतर बालिकाओं को लाभान्वित किया जा रहा है। पिछले वर्ष 6193 बालिकाओं को लाडली लक्ष्मी योजना से लाभान्वित किया जाकर प्रमाण पत्र प्रदान किए गए हैं। सम्पूर्ण रायसेन जिले में अब तक कुल 77096 बालिकाओं को लाड़ली लक्ष्मी योजना से लाभान्वित किया गया है।

लाड़लियों को प्रदान किए गए ड्रायविंग लायसेंस
 
रायसेन वन परिसर में आयोजित कार्यक्रम में सहकारिता, लोक सेवा प्रबंधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ भदौरिया तथा स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी द्वारा लाड़ली कु. मानसी रजक और कु. आयुषी सोनी को ड्रायविंग लायसेंस प्रदान किए गए।

बाघा बार्डर का भ्रमण करने वाली लाड़लियों को किया सम्मानित

कार्यक्रम में सहकारिता, लोक सेवा प्रबंधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ अरविंद सिंह भदौरिया द्वारा प्रदेश में पुनः शुरू हुई माँ तुझे प्रणाम योजना के तहत अंतर्राष्ट्रीय सीमा वाघा-हुसैनीवाला (पंजाब) बार्डर भ्रमण करने वाली जिले की लाड़ली आकांक्षा लोधी और सोनम लोधी को पौधा भेंट कर सम्मान किया गया। इस अवसर पर एसपी श्री विकाश कुमार शहवाल, जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा, महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकाीर श्री दीपक संकत सहित अन्य अधिकारी, जनप्रतिनिधि, लाड़लियां तथा आमजन उपस्थित थे।

 

 

नोशे ख़ांन

 रायसेन 

Follow Us On You Tube